Hindi Bible Stories

“हे जवान, मैं तुझसे कहता हूं, उठ!” (लूका 7:14)।

"हे जवान, मैं तुझसे कहता हूं, उठ!" (लूका 7:14)।

“हे जवान, मैं तुझसे कहता हूं, उठ!” (लूका 7:14)। फोर्ड नामक एक प्रसिद्ध अमेरिकी उद्योगपति ने नई कार का आविष्कार किया। यह उसे जल्दी से जीवन में एक महान ऊंचाई पर ले गया। एक दिन एक युवा उनसे मिला और पूछा, “माननीय श्री फोर्ड, आपने बहुत धन दौलत कमाया है। आप उनके साथ क्या करने …

“कि आज दाऊद के नगर में तुम्हारे लिए एक उद्धारकर्ता जन्मा है और यही मसीह प्रभु है” (लूका 2:11)।

“कि आज दाऊद के नगर में तुम्हारे लिए एक उद्धारकर्ता जन्मा है और यही मसीह प्रभु है” (लूका 2:11)।

“कि आज दाऊद के नगर में तुम्हारे लिए एक उद्धारकर्ता जन्मा है और यही मसीह प्रभु है” (लूका 2:11)। वे सभी जिनके हृदय में यीशु ने जन्म लिया है वे धन्य हैं। आपके जीवन का सबसे खुशी का दिन वह दिन है जिस दिन यीशु मसीह आपके दिल में जन्म लेता है। बहुत से लोग …

“मैं बीमार था, और तुमने मेरी सुधि ली” (मत्ती 25:36)।

"मैं बीमार था, और तुमने मेरी सुधि ली" (मत्ती 25:36)।

मैंबीमार था! “मैं बीमार था, और तुमने मेरी सुधि ली” (मत्ती 25:36)। अस्पताल के दौरे के दौरान मरीजों से मिलने पर हमारा दिल पिघल जाता है। इसके अलावा, जब कोई मरीज बिना किसी के देखभाल के अनाथ वहां रहते हैं उसे देख दिल टूट जाता है। कई मरीजों को वहां बिस्तर की सुविधा तक नहीं …

“तब सिखाने वालों की चमक आकाशमंडल की सी होगी, और जो बहुतों को धर्मी बनाते हैं ,वे सर्वदा तारों के समान प्रकाशमान रहेंगे” (दानिय्येल 12: 3)।

तब सिखाने वालों की चमक आकाशमंडल की सी होगी, और जो बहुतों को धर्मी बनाते हैं ,वे सर्वदा तारों के समान प्रकाशमान रहेंगे" (दानिय्येल 12: 3)।

चमक! “तब सिखाने वालों की चमक आकाशमंडल की सी होगी, और जो बहुतों को धर्मी बनाते हैं ,वे सर्वदा तारों के समान प्रकाशमान रहेंगे” (दानिय्येल 12: 3)। परमेश्वर धार्मिकता का सूर्य है। आप उसकी संतान हैं, इसलिए आपको भी चमकना होगा। क्या ऐसा नहीं है? क्या आप परमेश्वर के लिए चमकेंगे ताकि पूरी दुनिया को …

“हे दानिय्येल, हे अति प्रिय पुरुष….. मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।” (दानिय्येल 10:11)।

"हे दानिय्येल, हे अति प्रिय पुरुष..... मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।" (दानिय्येल 10:11)।

भेजा गया इसलिए आया ! “हे दानिय्येल, हे अति प्रिय पुरुष….. मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।” (दानिय्येल 10:11)। इन शब्दों पर मनन करें “मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।” परमेश्वर की आँखें हमें लगातार देखती रहतीं हैं। जब आप दुःख में होते हैं, परमेश्वर अपने स्वर्गदूतों को भेजकर आपको मजबूत बनाता है। …

“… पहले ही दिन को जब तू ने बूझने के लिए मन लगाया और अपने परमेश्वर के सामने अपने को दीन किया, उसी दिन तेरे वचन सुने गए” (दानिय्येल 10:12)।

पहले ही दिन को जब तू ने बूझने के लिए मन लगाया और अपने परमेश्वर के सामने अपने को दीन किया, उसी दिन तेरे वचन सुने गए" (दानिय्येल 10:12)।

उपवास की मिठास! “… पहले ही दिन को जब तू ने बूझने के लिए मन लगाया और अपने परमेश्वर के सामने अपने को दीन किया, उसी दिन तेरे वचन सुने गए” (दानिय्येल 10:12)। उपवास दानिय्येल के लिए एक खुशी की बात थी। उपवास के दिन वे दिन थे जिनमें वह खुशी से परमेश्वर के करीब …

हमारा पिता अब्राहम हारान में बसने से पहले जब मेसोपोटामिया में था; तो तेजोमय परमेश्वर ने उसे दर्शन दिया,” (प्रेरितों 7: 2)।

*तीन प्रकाशन!* *”हमारा पिता अब्राहम हारान में बसने से पहले जब मेसोपोटामिया में था; तो तेजोमय परमेश्वर ने उसे दर्शन दिया,” (प्रेरितों 7: 2)।* *जब परमेश्वर पहली बार अब्राहम के सामने आए, तो वह महिमा के प्रभु के रूप में प्रकट हुए। अब्राहम के बारे में लिखते हुए, इतिहासकार कहते हैं, “अब्राहम के पूर्वजों ने …

और अब तेरे दोनों पुत्र, जो मिस्त्र में मेरे आने से पहिले उत्पन्न हुए हैं, वे मेरे ही ठहरेंगे; अर्थात जिस रीति से रूबेन और शिमोन मेरे हैं उसी रीति से एप्रैम और मनश्शे भी मेरे ठहरेंगे। (उत्पत्ति 48: 5)

*वे मेरे हैं!* *“और अब तेरे दोनों पुत्र, जो मिस्त्र में मेरे आने से पहिले उत्पन्न हुए हैं, वे मेरे ही ठहरेंगे; अर्थात जिस रीति से रूबेन और शिमोन मेरे हैं उसी रीति से एप्रैम और मनश्शे भी मेरे ठहरेंगे। (उत्पत्ति 48: 5)।* *जब याकूब वृद्ध हुआ तो उसने यूसुफ के द्वारा जन्मे गए दोनों …

तुझसे मिलूंगा! “मैं वहां,तुझ से मिला करूंगा;”(निर्गमन 25:22)।

*तुझसे मिलूंगा!* *”मैं वहां,तुझ से मिला करूंगा;”(निर्गमन 25:22)। *एक लड़का यह सोचता था कि आकाश और पृथ्वी एक अंतराल पर मिलते हैं और वह उस निश्चित स्थान के पास जाना चाहता था। वह स्थान कैसा होगा इसके बारे में कल्पना किया करता था। उसकी सोच थी कि आकाश और पृथ्वी दूर एक स्थान में मिलते …

अंत के समय में! “तब बहुत से ठोकर खाएंगे, और एक दूसरे को पकड़वाएंगे, और एक दूसरे से बैर रखेंगे।” (मत्ती 24:10)।

अंत के समय में! “तब बहुत से ठोकर खाएंगे, और एक दूसरे को पकड़वाएंगे, और एक दूसरे से बैर रखेंगे।” (मत्ती 24:10)। आपने अंतिम दिनों में प्रवेश कर दिया है जिसमें दुष्टता अपने पूरे चरम पर है और जिसमें विश्वासघात काफी ज्यादा है। पवित्र शास्त्र कहता है ‘उन दिनों में कई लोग विश्वास से भटक …