Tag Archives: परमेश्वर की आँखें हमें लगातार देखती रहतीं हैं

“हे दानिय्येल, हे अति प्रिय पुरुष….. मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।” (दानिय्येल 10:11)।

"हे दानिय्येल, हे अति प्रिय पुरुष..... मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।" (दानिय्येल 10:11)।

भेजा गया इसलिए आया ! “हे दानिय्येल, हे अति प्रिय पुरुष….. मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।” (दानिय्येल 10:11)। इन शब्दों पर मनन करें “मैं अभी तेरे पास भेजा गया हूं।” परमेश्वर की आँखें हमें लगातार देखती रहतीं हैं। जब आप दुःख में होते हैं, परमेश्वर अपने स्वर्गदूतों को भेजकर आपको मजबूत बनाता है। …