Tag Archives: और तुमने मेरी सुधि ली” (मत्ती 25:36)।

“मैं बीमार था, और तुमने मेरी सुधि ली” (मत्ती 25:36)।

"मैं बीमार था, और तुमने मेरी सुधि ली" (मत्ती 25:36)।

मैंबीमार था! “मैं बीमार था, और तुमने मेरी सुधि ली” (मत्ती 25:36)। अस्पताल के दौरे के दौरान मरीजों से मिलने पर हमारा दिल पिघल जाता है। इसके अलावा, जब कोई मरीज बिना किसी के देखभाल के अनाथ वहां रहते हैं उसे देख दिल टूट जाता है। कई मरीजों को वहां बिस्तर की सुविधा तक नहीं …