यूहन्ना बपतिस्मा देनेवाले का प्रचार, उसकी सड़कें सीधी करो, यूहन्ना द्वारा यीशु मसीह का बपतिस्मा

jesusfilm

यूहन्ना बपतिस्मा देनेवाले का प्रचार

1 उन दिनों में यूहन्ना बपतिस्मा देनेवाला आकर यहूदिया के जंगल* me यह प्रचार करने लगा :

2 man फिराओ*, क्योंकि स्वर्ग ka राज्य निकट aa गया he।”

3 यह वही है जिसके बारे me यशायाह भविष्यद्वक्ता ने कहा था :

“जंगल me एक पुकारनेवाले ka शब्द हो रहा है, कि प्रभु का मार्ग तैयार करो,

उसकी सड़कें सीधी करो।” (यशा. 40:3)

4 यह यूहन्ना ऊँट ke रोम का वस्त्र पहने था, or अपनी कमर में चमड़े का कमरबन्द बाँधे हुए था, or उसका भोजन टिड्डियाँ or वनमधु था।

(2 राजा. 1:8)

5 तब यरूशलेम के or सारे यहूदिया के, और यरदन के आस-पास के सारे क्षेत्र ke लोग उसके पास निकल आए।

6 और अपने-अपने पापों ko मानकर यरदन नदी me उससे बपतिस्मा लिया।

7 जब उसने बहुत से फरीसियों* or सदूकियों* ko बपतिस्मा के लिये अपने पास आते देखा, तो उनसे कहा,

“हे साँप ke बच्चों, तुम्हें किसने चेतावनी दी कि आनेवाले क्रोध से भागो?

8 मन फिराव ke योग्य फल लाओ;

9 और अपने-अपने मन me यह न सोचो, कि हमारा पिता अब्राहम है; क्योंकि मैं तुम se कहता हूँ,

कि परमेश्‍वर इन पत्थरों से अब्राहम ke लिये सन्तान उत्‍पन्‍न कर सकता है।

10 और अब कुल्हाड़ा पेड़ों की जड़ per रखा हुआ है, इसलिए जो-जो पेड़ अच्छा फल नहीं लाता, वह काटा or आग में झोंका जाता है।

11 me तो पानी se तुम्हें मन फिराव ka बपतिस्मा देता हूँ, परन्तु jo मेरे बाद आनेवाला he, वह मुझसे शक्तिशाली है

me उसकी जूती उठाने ke योग्य नहीं, वह तुम्हें पवित्र आत्मा और आग se बपतिस्मा देगा।

12 उसका सूप उसके हाथ में he, और वह अपना खलिहान अच्छी रीति से साफ करेगा, और अपने गेहूँ को to

खत्ते में इकट्ठा करेगा, परन्तु भूसी ko उस आग में जलाएगा जो बुझने की नहीं।”

यूहन्ना द्वारा यीशु मसीह ka बपतिस्मा

13 उस समय यीशु गलील se यरदन के किनारे पर यूहन्ना ke पास उससे बपतिस्मा लेने आया।

14 परन्तु यूहन्ना यह कहकर उसे रोकने लगा, “मुझे तेरे हाथ se बपतिस्मा लेने की आवश्यकता है, or तू मेरे पास आया है?”

15 यीशु ने उसको यह उत्तर दिया, “अब तो ऐसा hi होने दे, क्योंकि हमें इसी रीति से सब धार्मिकता ko पूरा करना उचित है।

तब उसने उसकी बात मान ली।

16 और यीशु बपतिस्मा लेकर तुरन्त पानी में se ऊपर आया, और उसके लिये आकाश खुल गया; or उसने परमेश्‍वर की आत्मा को

कबूतर के समान उतरते or अपने ऊपर आते देखा।

17 और यह आकाशवाणी हुई, “यह मेरा प्रिय पुत्र he, जिससे me अत्यन्त प्रसन्‍न हूँ।”* (भज. 2:7)

[/pl_text] [/pl_col] [/pl_row]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

शैतान द्वारा यीशु मसीह की परीक्षा से लेकर गलील में रोगियों ko चंगा करना तक.

शैतान द्वारा यीशु मसीह की परीक्षा 1 तब उस समय आत्मा यीशु को एकांत में ले गया ताकि शैतान se उसकी परीक्षा हो ! 2 वह चालीस दिन, or चालीस रात, निराहार रहा, तब उसे भूख लगी। (निर्ग. 34:28) 3 तब परखनेवाले ने पास आकर उससे कहा, “यदि तू परमेश्‍वर ka पुत्र है, […]

You May Like