कोढ़ के रोगी को छूकर चंगा करना,पतरस के घर में अनेक रोगियों की चंगाई,आँधी और तूफान को शान्त करना.

jesusfilm

कोढ़ के रोगी को छूकर चंगा करना

1 जब यीशु us पहाड़ से उतरा, तो ek बड़ी भीड़ उसके पीछे हो ली।

2 और ek कोढ़ी* ने पास aaker उसे प्रणाम किया और कहा, he प्रभु यदि तू चाहे, तो मुझे शुद्ध कर सकता है।

3 यीशु ने हाथ बढ़ाकर use छुआ or कहा मैं चाहता हूँ, तू शुद्ध हो ja और वह तुरन्त कोढ़ से शुद्ध ho गया।

4 यीशु ने उससे कहा, देख किसी se न कहना, परन्तु जाकर apne आप को याजक को दिखा और jo चढ़ावा मूसा ने ठहराया है उसे चढ़ा, ताकि unke लिये गवाही हो। (लैव्य. 14:2-32)

सूबेदार के विश्वास पर यीशु की प्रशंसा

5 और जब वह कफरनहूम me आया तो ek सूबेदार ने उसके पास आकर उससे विनती की,

6 हे प्रभु, मेरा सेवक घर me लकवे ka मारा बहुत दुःखी पड़ा है।

7 उसने उससे कहा, me आकर उसे चंगा करूँगा।”

8 सूबेदार ने उत्तर दिया, हे प्रभु, me इस योग्य नहीं, कि तू मेरी छत के तले आए per केवल मुँह से कह दे तो मेरा सेवक चंगा ho जाएगा।

9 क्योंकि me भी पराधीन मनुष्य हूँ or सिपाही मेरे हाथ में हैं और जब ek से कहता हूँ, जा, to वह जाता है; और दूसरे को कि आ, तो वह आता है orअपने दास से कहता हूँ कि यह ker तो वह करता है।”

10 यह सुनकर यीशु ने अचम्भा किया, और jo उसके पीछे आ रहे थे unse कहा, मैं तुम से सच कहता हूँ कि mene इस्राएल में भी ऐसा विश्वास नहीं पाया।

11 और मैं tum से कहता हूँ kiबहुत सारे पूर्व और पश्चिम से आकर अब्राहम or इसहाक और याकूब के साथ स्वर्ग के राज्य में बैठेंगे।

12 परन्तु राज्य ke सन्तान बाहर अंधकार me डाल दिए जाएँगे: वहाँ रोना और दाँतों ka पीसना होगा।”

13 और यीशु ने सूबेदार से कहा, ja जैसा तेरा विश्वास है वैसा ही तेरे लिये हो।” और उसका सेवक ushi समय चंगा हो गया।

पतरस के घर में अनेक रोगियों की चंगाई

14 और यीशु ने पतरस ke घर में आकर usaki सास को तेज बुखार me पड़ा देखा।

15 उसने uska हाथ छुआ और उसका ज्वर उतर गया orवह उठकर उसकी सेवा करने लगी।

16 जब संध्या हुई tab वे उसके पास बहुत से लोगों ko लाए जिनमें दुष्टात्माएँ थीं और उसने un आत्माओं को अपने वचन से निकाल दिया or सब बीमारों को चंगा किया।

17 ताकि जो वचन यशायाह भविष्यद्वक्ता ke द्वारा kaha गया था वह पूरा हो उसने आप हमारी दुर्बलताओं ko ले लिया और हमारी बीमारियों को उठा लिया। (1 पत. 2:24)

यीशु का शिष्य बनने का मूल्य

18 यीशु ने अपने चारों or एक बड़ी भीड़ देखकर झील के उस पार jane की आज्ञा दी।

19 और ek शास्त्री ने पास आकर उससे कहा he गुरु, जहाँ कहीं तू जाएगा me तेरे पीछे-पीछे हो लूँगा।

20 यीशु ने उससे kaha लोमड़ियों के भट or आकाश के पक्षियों ke बसेरे होते हैं परन्तु मनुष्य के पुत्र ke लिये सिर धरने की भी जगह नहीं है।

21 एक or चेले ने उससे कहा, हे प्रभु, मुझे पहले जाने दे ki अपने पिता को गाड़ दूँ (1 राजा. 19:20-21)

22 यीशु ने उससे कहा tu मेरे पीछे हो ले और मुर्दों ko अपने मुर्दे गाड़ने दे।

आँधी और तूफान को शान्त करना

23 जब वह नाव पर चढ़ा to उसके चेले उसके पीछे ho लिए।

24 और झील me एक ऐसा बड़ा तूफान उठा कि नाव लहरों se ढँपने लगी और वह सो रहा था।

25 तब उन्होंने पास आकर use जगाया, और कहा, हे प्रभु, हमें बचाhum नाश हुए जाते हैं।”

26 उसने उनसे कहा, he अल्पविश्वासियों क्यों डरते हो tab उसने उठकर आँधी और पानी को डाँटा or सब शान्त हो गया।

27 और लोग अचम्भा karke कहने लगे यह कैसा मनुष्य है कि आँधी or पानी भी उसकी आज्ञा मानते हैं।”

दुष्टात्माओं को सूअरों के झुण्ड में भेजना

28 जब वह us पार गदरेनियों के क्षेत्र में पहुँचा तो दो मनुष्य जिनमें दुष्टात्माएँ थीं कब्रों se निकलते हुए उसे मिले जो इतने प्रचण्ड थे ki कोई उस मार्ग se जा नहीं सकता था।

29 और उन्होंने चिल्लाकर कहा he परमेश्‍वर के पुत्र humare तुझ से क्या काम? क्या तू समय से पहले hume दुःख देने यहाँ आया है ” (लूका 4:34)

30 unse कुछ दूर बहुत se सूअरों का झुण्ड चर रहा था।

31 दुष्टात्माओं ने उससे यह कहकर विनती की यदि तू hume निकालता है to सूअरों के झुण्ड में भेज दे

32 उसने unse कहा जाओ और वे निकलकर सूअरों में घुस गई और sara झुण्ड टीले पर से झपटकर पानी में जा पड़ा or डूब मरा।

33 और चरवाहे भागे और नगर me जाकर ये सब बातें or जिनमें दुष्टात्माएँ थीं उनका sara हाल कह सुनाया।

34 और सारे नगर ke लोग यीशु से भेंट करने को निकल आए और use देखकर विनती की ki हमारे क्षेत्र से बाहर निकल जा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मृत लड़की का जी उठना,एक लकवे के रोगी को चंगा करना,यीशु के द्वारा मत्ती का बुलाया जाना,यूहन्ना के चेलों का उपवास का प्रश्न,अंधों का विश्वास.

एक लकवे के रोगी को चंगा करना 1 फिर वह नाव पर चढ़कर पार गया or अपने नगर में आया। 2 और कई लोग एक लकवे ke मारे हुए को खाट पर रखकर उसके पास लाए। यीशु ने unka विश्वास देखकर, उस लकवे के मारे हुए से कहा हे पुत्र, […]